How to Increase Page Speed of WordPress Website [Hindi]

How to Increase Page Speed of WordPress Website [Hindi]

result of page speed

Page Speed Insights एक गूगल का टूल है जिसकी मदद से हम अपने वेबसाइट का पेज स्पीड चेक कर सकते है। ये एक फ्री टूल है जो पेज स्पीड इम्प्रूव करने के बारे में काफी हद तक हमें मदद करता है।

इस टूल का डेव्हलपर गूगल होने के कारण हम इसपर विश्वास कर सकते है। पेज स्पीड इनसाइट हमें डेस्कटॉप के साथ साथ मोबाइल पेज स्पीड के बारे में भी जानकारी देता है। ये जानकारी % में होती है जो ० से लेकर १०० तक होती है।

आपका स्कोर जितना १०० के नजदीक होगा उतनी आपकी वेबसाइट जल्दी से ओपन हो जाएगी। जब आप अपनी वेबसाइट यहाँ पे एंटर करेंगे तो निचे आपको पूरी डिटेल में ये बताया जायेगा की कैसे आप वेबसाइट का पेज स्पीड बढ़ा सकते है। 

इस आर्टिकल में हम पूरी जानकारी लेंगे की कैसे हम इस टूल की मदद से पेज का स्पीड बढ़ा सकते है। एक एक करके हम पूरी प्रोसेस देखेंगे। अगर आप भी इस प्रोसेस को फॉलो करते है तो मैं ये यकीन देता हूँ की आपका भी स्कोर ९०% से ऊपर जायेगा। 

 वैसे तो इस टूल में बहुत सारी प्रोब्लेम्स के बारे में बताया गया है जिससे पेज की स्पीड कम होती है। लेकिन यहाँ पे ३ ऐसी प्रोब्लेम्स है जो हर वेबसाइट में होती ही है। हम उसी प्रॉब्लम को सुलझाने की कोशिश करेंगे।

सबसे पहले आप Page Speed Insights ओपन करें।

 यहाँ पे आपको एक बॉक्स मिलेगा उसमें वेबसाइट की लिंक टाइप करके एंटर कीजिये।

आपके सामने रिजल्ट आएगा जो एक ० से १०० % तक स्कोर होगा। रिजल्ट के निचे आपको पूरी जानकारी मिलेगी। 

पेज स्पीड ६ पैरामीटर को स्टडी करके आपको रिजल्ट देता है जो दरअसल टाइमिंग होता है। पहले हम उसकी जानकारी लेते है। 

page speed insight factors

First Contentful Paint 

ये हमे जब किसी वेबसाइट को विजिट करते है तो उस वेबसाइट का पहिला कंटेंट जैसे की कोई भी टेक्स्ट या फिर इमेज इ. दिखने में कितना समय लगता है ये दर्शाता है। 

First Meaningful Paint

आपके वेबसाइट का जो primary content होता है वो दिखाई देने के लिए जो समय लगता, यही समय यहाँ पे दिखाई देता है। 

Speed Index 

किसी वेबसाइट के पेज का कंटेंट कितने तेजी से लोड होता है ये स्पीड इंडेक्स से पता चलता है।

First CPU Idle

जब विजिटर किसी वेबसाइट को विजिट करता है और वहाँ पे कुछ इनपुट करना चाहता है तो वो पेज पूरी तरह से लोड होने की जरुरत होती है। यहाँ पे वेबसाइट लोडिंग होते समय कुछ समय ऐसा आता है जहा पे पेज पूरी तरह से नहीं लोड होता फिर हम भी इनपुट कर सकते है। First CPU Idle यही समय दर्शाता है।  

Time to Interactive

ये वो समय है जो एक पेज पूरी तरह से इंटरैक्टिव होने के लिए लगता है।  

Max Potential First Input Delay 

ये एक अवधि होता है, जो आपके वेबसाइट के लम्बे टास्क के लिए लगता है। ये समय यूजर अनुभव कर सकते है और ये मिली सेकण्ड में रहता है।  

ये कुछ पैरामीटर थे जिनके बेस पर ये टूल हमें रिजल्ट देता है।  अब ये रिजल्ट दिखाने के बाद निचे आपको पेज स्पीड इम्प्रूव करने के बारे में कुछ सुझाव दिए जायेंगे। अगर आप ये सुझाव को अपने वेबसाइट के ऊपर इम्प्लीमेंट करते है तो निश्चित रूप से आपके पेज स्पीड में सुधार हो जाएगा।

हम यहाँ पे आपको ३ ऐसे सुझाव देने वाले है जो बहुत ही कॉमन है और लगभग हर किसी वेबसाइट में ये। आप निचे दिए गए सुझाव को स्टेप बाय स्टेप फॉलो करेनेगे तो निश्चित रूप पेज स्पीड बढ़ जायेगा।

page speed insight options

#1. Serve images in next-gen formats

Next Gen का मतलब होता है Next Generation.

ज्यादातर लोग जो Images इस्तेमाल करते है वो एक तो JPEG फॉर्मेट में होती है या फिर PNG फॉर्मेट में। ये फॉर्मेट आज भी उतनेही है लोकप्रिय है जितने पहले थे।

लेकिन जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ रही है उस हिसाब से फॉर्मेट में बदलाव भी आ रहे है। आज  JPEG २००,  JPEG xr, WebP इ. फॉर्मेट उपलब्ध है। ये नए फॉर्मेट पुराने फॉर्मेट की तुलना में कई ज्याद इफेक्टिव है। 

ये बहुत अच्छी तरह से कॉम्प्रेस होते है। इनका लोड होने का टाइम काफी कम है। अगर आपको भी पेज लोड टाइम कम करना हैं तो आप भी इमेजेस को next gen format में इस्तेमाल करना होगा।  

इमेज कन्वर्ट करने के लिए बहुत सारी ऐसी वेबसाइट है जिनका इस्तेमाल करके हम फ्री में कन्वर्ट कर सकते है। जैसे की 

Mygeodata

Aconvert

इस प्रोसेस के लिए हम प्लगइन का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन ये सुविधा लेने के लिए हमें पेड व्हर्जन लेना पड़ेगा। 

EWWW, Smush इ प्लगइन की मदद से हम कन्वर्ट कर सकते है।


#2. Eliminate render-blocking resources

Render blocking resource क्या होते है ? 

Render का मतलब होता ब्लॉक करना या फिर किसी प्रोसेस के अंदर रूकावट लाना। 

आप के वेबसाइट का पेज लोड होने में भी कुछ ऐसे एलिमेंट होते है जो आप के पेज को लोड होने में बाधा डालते है। ये एलिमेंट CSS, HTML फाइल्स होते है।

दरअसल कोई विजिटर आपके वेबसाइट पे विजिट करता है तो आप की कोशिश यही रहती है की वेबसाइट जल्द से जल्द खुल जाये।  और ऐसा हो जाता है तो आपका इम्प्रेशन अच्छा पड़ता है।  

Render blocking resource अगर आप के पेज को लोड होने से रोकते है तो ये एक ख़राब  इम्प्रेशन पड जाता है। ऐसे में विजिटर आपकी वेबसाइट क्लोज करके दूसरे वेबसाइट पे चले जाते है जो आपकी बाउंस रेट बढ़ाता है।

यहाँ पे हम एक प्लगइन की मदद से Render blocking resource eliminate कर सकते है। 

1. WordPress पे लॉगइन कीजिये। 

2. Plugin में जा के ऊपर Add new पे क्लिक करे। 

3. Search box में ” Autoptimize ” type कीजिये। 

4. रिजल्ट में जो Autoptimize plugin आएगा उसे install करके Active कीजिये। 

autoptimize plugin activating

Plugin active होने के बाद आपको ऊपर की Title bar  में ” Autoptimize ” का ऑप्शन दिखेगा वहाँ पे क्लिक कीजिये।

autoptimize plugin icon at menubar

अब आपके सामने सेटिंग्स का dashboard आएगा वहाँ पे जो पहला ऑप्शन होगा Java, css, and html निचे जो कुछ सेटिंग्स करनी है उसका स्क्रीन शॉट दे रहा हूँ। आप ठीक ऐसे ही सेटिंग्स कर दीजिये।

autoptimize plugin setting
autoptimize plugin setting
autoptimize plugin setting

#3 Reduce server response times (TTFB)

हम इंटरनेट पे कनेक्ट होने के लिए ब्राउजर का इस्तेमाल करते है। जब हम ब्राउजरसे किसी वेबसाइट को विजिट करते है तो उस वेबसाइट का content दिखने के लिए रिक्वेस्ट भेजी जाती है।

ये जो रिक्वेस्ट हम भेजते है वो सर्वर को भेजी जाती है। ये रिक्वेस्ट सर्वर स्वीकारता है और उसके बाद जा के वो content विज़िटर के पास भेजा जाता है।

इस प्रोसेस में बहुत समय जाता है। अगर हम ये समय कम करने सफल होते है तो पेज लोड टाइम जरूर कम होगा।   

Server response time कम करने के बहुत सारे विकल्प है।  

1. Update regularly 

आपके वेबसाइट की Theme, Plugins, और साथ में WordPress  भी up to date रखिये। हमेशा Update करते रहने से plugin याफिर themes में जो भी छोटे मोठे errors होते है वो फिक्स किये जाते है। उनको अच्छी तरह से optimize किया जाता हैं, जिससे काफी मदद होती है।  

2. Use CDN  

Content Delivery Network एक सर्वर का ग्रुप होता है जो आप को फ़ास्ट डेटा ट्रान्सफर करने के लिए बनाया गया है। ऐसे सर्वर पे content की कॉपी बनाके रखी जाती है और फिर अलग अलग लोकेशन की हिसाब से सेव किया जाता है। जब कोई विज़िटर सर्च करता है तो उसके करीब जो सर्वर होगा वहाँ से उसे डेटा ट्रान्सफर किया जाता है। इसे टाइम कम लगता है।  

3. Use quality web hosting 

वेबसाइट के लिए जब हम होस्टिंग खरीदते है तो उसकी क्वालिटी पे ध्यान दे। यहाँ पे क्वालिटी का मतलब है होस्टिंग फ़ास्ट होनी चाहिए। अगर होस्टिंग अच्छी होती है तो वो बहुत सारे रिक्वेस्ट अच्छी तरह से हैंडल करता है, जिससे टाइम कम होता है।  

4. Use plugin  

Speed Booster pack जैसे plugin का इस्तेमाल करके आप सर्वर टाइम कम कर सकते है।

आप यहाँ पे देख सकते है की ऊपर दिए हुए सुझाव को अगर आप इम्प्लीमेंट करते है तो उसका रिजल्ट क्या आता है। हम इन तीनो प्रोब्लेम्स को Passed audit में देख सकते है। 

page speed audits

यहाँ पे हमने ये जो 3 सुझाव दिए है ये सिर्फ Page speed insight के रिजल्ट की मदद से दिए है। ये सुझाव लगभग हर वेबसाइट के लिए महत्वपूर्ण है। इससे छोड़कर और सारे भी सुझाव है जो आप के वेबसाइट की हिसाब से बदलते है। ये सुझाव आप यहाँ पे पढ़ सकते है। अगर आपको Page speed insight की कोई सुझाव के बारे में जानकारी चाहिए तो कमेंट बॉक्स में लिख सकते है।